Tuesday, 24 September 2013

भारतीय बैंकों पर मूडीज, फिच का भरोसा घटा

बैंक शेयरों के लिए बुरी खबर है। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज ने स्टेट बैंक और फिच ने पंजाब नेशनल बैंकबैंक ऑफ बड़ौदा औरइंडियन बैंक की रेटिंग घटा दी है।

मूडीज ने एसबीआई की रेटिंग बीएए2 से घटाकर बीएए3 कर दी है। मूडीज ने एसबीआई के अनसिक्योर्ड कर्ज और रुपये के डिपॉजिट की रेटिंग घटा दी है। इस कटौती के बाद स्टेट बैंक की रेटिंग देश की रेटिंग के बराबर हो गई है।

मूडीज का मानना है कि इकोनॉमी में मंदी का एसबीआई पर बुरा असर पड़ सकता है। हालांकि बैंकों का मानना है कि रेटिंग में हुई कटौती का बैंक की उधारी की लागत पर असर नहीं होगा।

इसके अलावा फिच ने सोमवार को इंडियन बैंक के लंबी अवधि के फॉरेन करेंसी डेट की रेटिंग भी घटा दी है। बैंकों के मुताबिक इस कटौती से बैंक के लिए विदेश से पैसा जुटाना मुश्किल हो जाएगा। इसके अलावा फिच ने पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा की रेटिंग भी घटाई है।

फिच ने इंडियन बैंक की रेटिंग बीबीबी- से घटाकर बीबी+ कर दी है। फिच ने पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा की रेटिंग भी एक पायदान घटाकर बीबी+ कर दी है। फिच का मानना है कि आगे बैंकों की एसेट क्वॉलिटी और खराब होगी।

हालांकि आरबीआई बैंकों की रेटिंग घटने से चिंतित नहीं है। आरबीआई के डिप्टी गवर्नर के सी चक्रवर्ती के मुताबिक एसबीआई की रेटिंग घटना खतरे की बात नहीं है।

एसबीआई की एमडी अरुंधती भट्टाचार्य का कहना है कि रेटिंग घटने से देश में बैंक पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। केवल विदेश में पूंजी जुटाने पर प्राइसिंग में असर पड़ सकता है। फिलहाल बैंकों को पूंजी जुटाने की जरूरत नहीं है। लेकिन खराब इकोनॉमी के चलते एसेट क्वॉलिटी की दिक्कत बनी रहेगी।

No comments:

Post a Comment

Blogroll